DownloadsPress and Media

Ishwarchandra
Vidyasagar Academy

Bhagwati Vihar, Moresarai, Sasaram (Rohtas) An English Medium Co-Educational Institution Affiliated to CBSE, New Delhi up to 10+2 level (Aff No. 330646)
Science
Commerce
Arts

Direction For Guardians

The guardians and the teachers make the stepping-stone to the psychological, intellectual and spiritual development of the students. The student receives the primary lessons of education from his guardian. The teacher only educes the full potential of the student. Therefore, the guardian must keep a watchfull eye on his/her ward.

Accordingly, it is desired of the guardians that they take notice of the following directions :
1. Please, check the diary daily and comment and sign on the specified place in the diary.
2. Please see to it, that your ward :
     (a) Comes to the school on time in clean and proper uniform with books and note-books according to the routine.
     (b) Does not absent him self/her self from the class except under special circumstances.
     (c) In case of inevitable absence, follows the rules of leave.


अभिभावकों के लिए दिशा - निर्देश

अभिभावक एवं शिक्षक शिक्षार्थियों के मानसिक , बौद्धिक एवं आध्यात्मिक विकास के सहायक सोपान है | शिक्षार्थी शिक्षा का प्रथम पाठ अभिभावकों की प्रेरणा एवं देख- रेख से ही सीखता है | शिक्षक तो शिक्षार्थी के आंतरिक प्रतिभा को ही जागृत कर पाता है |

इसलिए अभिभावक की जागरूकता अपने प्रतिपाल्य/प्रतिपाल्या के प्रति अधिक आवश्यकता प्रतीत होती है |
०१. कृपया डायरी को प्रतिदिन देखे और निर्धारित स्थान पर अपनी टिपण्णी के साथ हस्ताक्षर बना दे |
०२. कृपया यह सुनिश्चित /प्रेरित करे की आपका प्रतिपाल्या /प्रतिपाल्य-
     * निर्धारित समय पर स्वक्ष एवं समुचित पोशाक में पाठ्य तालिका के अनुरुप पठन- सामग्री सहित संस्था में आये |
     * अपरिहाय स्थिति को छोड़कर अनुपस्थित न हो |
     * अनुपस्थिति की स्थिति में अवकाश के नियमों का अनुपालन करे |
     * दिए गये गृह कार्यं को मुस्तैदी से करे |
     *बहुमूल्य वस्तु को लेकर संस्था में ना आये | खो जाने की स्थिति में संस्था जिम्मेवार नहीं होगी |
०३ पाठ्य - सहगामी क्रियाओं में भाग लेने हेतु अपने प्रतिपाल्य /प्रतिपाल्या को उत्तप्रेरित करे |
०४ शुल्क का भुगतान निर्धारित समय से करने का कष्ट करे|
०५ अभिभावक प्रधानाचार्य की अनुमति से ही अपने प्रतिपाल्या /प्रतिपाल्य से मिले |
०६ समय - समय पर आहुत हुए शिक्षकों एवं अभिभावकों की बैठक में आप अवश्य आने का कष्ट करे तथा संस्था के विकास हेतु समय- समय पर अपने सुझावों एवं शिकायतों से अवगत कराये |